Agrasar supporting Government Schools with Life skills activities

October 5, 2020

बच्चों के पूर्ण विकास के लिए किताबी ज्ञान के साथ साथ खेल-कूद , व्यायाम, लाइफ स्किल्स जैसी गतिविधियों को उनके पाठ्यक्रम में शामिल करना बहुत ही आवश्यक है | अब लगभग सभी स्कूलों में बच्चों के पाठ्यक्रम में खेल-कूद एवं co-curricular गतिविधियों को जोड़ा जा चुका है | इन दिनों कोरोना महामारी  के चलते जहां सभी स्कूलों को बंद किया गया है ऐसे में बच्चों को ऑनलाइन पढ़ाई कराई जा रही है | हमने सरकारी स्कूल के कुछ शिक्षकों से बातचीत के दौरान जानने की कोशिश की थी, कि क्या ऑनलाइन पढ़ाई में वह बच्चों के साथ इस तरह की कोई गतिविधि को शामिल कर पा रहे है | जिसके दौरान हमें पता चला कि वे ऑनलाइन पढ़ाई में बच्चों के पाठ्यक्रम संबंधित शिक्षा ही बच्चों तक पहुंचा पा रहे थे | स्कूल टीचर चाहते थे कि हम बच्चों के पाठ्यक्रम में लाइफ स्किल्स गतिविधियों को जोड़े, हमने देर ना करते हुए स्कूल के बच्चों के पाठ्यक्रम में लाइफ स्किल्स गतिविधियों को भी शामिल कर दिया |   

हमने सप्ताह के एक दिन, हर शनिवार को लाइफ स्किल्स सेशन स्कूल टीचर को भेजना शुरू कर दिये और टीचर इन सेशन को बच्चों के ग्रुप में भेजने लगे | पिछले 3 महीने से हम सरकारी स्कूल के बच्चों की ऑनलाइन क्लास में लाइफ स्किल्स सेशन को शामिल कर पा रहे है | इस सेशन को हम हर शनिवार बच्चों तक उनके स्कूल के टीचर द्वारा बनाये गए व्हाटऍप ग्रुप के माध्यम से पहुँचा रहे है | इन सेशन  का मुख्य उद्देश्य  बच्चों में सोचने, सुनने ,समझने, एक दूसरे के साथ अच्छा व्यवहार रखने,समय प्रबंधन, रचनात्मक सोच, भावनात्मक सोच, सकारात्मक सोच जैसे स्किल्स का विकास करना है |  

इसके लिए हम इसमें समय प्रबंधन, टीम बिल्डिंग, रिलेशनशिप बिल्डिंग, सकारात्मक सोच जैसे विषयों पर गतिविधियाँ बनाकर बच्चों तक पहुंचा रहे है | 

जैसे कि रिलेशनशिप बिल्डिंग एक्टिविटी में हम बच्चे को ऐसी गतिविधि करने को देते है जिसमे बच्चों के साथ साथ उनके पेरेंट्स एवं  टीचर की बराबर की इन्वॉल्वमेंट रहे ऐसे में गतिविधि के दौरान वह एक दूसरे को और भी अच्छे से समझ पाते है और उनका रिलेशन और भी बेहतर  होता है | 

लाइफ स्किल्स सेशन की शुरुआत करने के एक महीने बाद जब हमने पेरेंट्स,टीचर, एवं बच्चों से बात करके जानने की कोशिश की, कि ये सेशन कैसे जा रहे है |  इन सेशन के द्वारा  हम कैसे सपोर्ट कर पा रहे है, और सभी की इन सेशन को लेकर क्या प्रतिक्रिया है | 

सरकारी स्कूल के शिक्षकों के अनुसार लाइफ स्किल्स एक्टिविटी बच्चों के लिए  मजेदार भी होती है और साथ ही इन गतिविधियों द्वारा बच्चों का खुद से, घर पर माता, पिता ,भाई बहन से, एवं  शिक्षकों के साथ संबंधों को भी बेहतर और मजबूत बनाते  है | 

सरकारी स्कूल की अध्यापिका बताती है, जिस तरह आप लाइफ स्किल्स सेशन को लिखित,वीडियो और ऑडियो रिकॉर्डिंग करके इंस्ट्रक्शन भेजते हो, यह  बहुत ही सरल बन जाते है और बच्चों को बहुत ही अच्छे से समझ जाते है | बच्चों का तो इनसे विकास हो ही रहा है , साथ ही साथ हमें भी इनसे बहुत सपोर्ट मिल रहा है क्योंकि  हम भी इनसे सीख रहे है और अपने पाठ्यक्रम में वीडियो और ऑडियो इंस्ट्रक्शन को ज्यादा से ज्यादा शामिल कर रहे है |”

सरकारी स्कूल के सर बताते है कि, “बच्चे बहुत ही रूचि के साथ इन सेशन को करके भेजते है और साथ ही लाइफ स्किल्स सेशन की कुछ एक्टिविटी ऐसी भी होती है, जिनमे बच्चों के पेरेंट्स भी हिस्सा लेते है तो बच्चों और पेरेंट्स की भी बॉन्डिंग अच्छी होती है और दोनों एक दूसरे से सीखते है |

सरकारी स्कूल की पांचवी कक्षा में पढ़ रही आशा की मम्मी बताती है कि, "बच्चे बहुत ही उत्साह एवं रूचि के साथ इन सेशन को करते है और क्योंकि कभी कभी इन गतिविधियों में हमारी भी भूमिका होती है तो हम भी हर शनिवार बच्चों से पूछ लेते है कि आज कोनसी गतिविधि करनी है | इससे हमें भी बच्चों के साथ समय बिताने का और कुछ नया सीखने का मौका मिल जाता है |”  सरकारी स्कूल में चौथी कक्षा में पढ़ने वाली रूचि बताती है कि, हम पूरा हफ्ता ऑनलाइन क्लास में मिला सभी विषय का काम करते है, ऐसे में जब शनिवार को लाइफस्किल्स एक्टिविटी करते है तो बहुत ज्यादा मजा आता है | ये कुछ नयी और मजेदार होती है |”  

सरकारी स्कूल की पाँचवीं कक्षा में पढ़ने वाला रोहित बताता है कि, हमें शनिवार को एक्टिविटी करने में बहुत मजा आता है और में तो अपने भाई बहन को भी वही एक्टिविटी कराता हूँ | एक एक्टिविटी जिसमे मुझे मम्मी से किन्ही पांच फल या सब्जियों की कीमत पता करनी थी उस्से मुझे बहुत ही मजा आया और सब्जियों और फल की कीमत का भी पता चला |” 

लाइफ स्किल्स सीखने की शुरुआत खुद से घर से एवं  स्कूल से होती है , ये हमें बेहतर इंसान बनाते है जिससे हम अपने अच्छे व्यवहार से सबके साथ एकजुट होकर रह सके और सीखते रहे एवं आगे बढ़ते रहे | 

ऐसी सोच के साथ हम हर शनिवार बच्चों को लाइफ स्किल्स एक्टिविटी भेजते है जिससे वह अपने आप को और आस पास के लोगों एवं चीजों को जान सके और एक कुशल व्यवहार के साथ आगे बढ़ते रहे और सीखते रहे | 

नीता , अग्रसर

Nita Chauhan

nita@agrasar.org